कंगना ने ट्वीट किया, ‘आप खुद को क्यों ज्यादा और मुझे कम आंक रहे हैं? अगर मैंने अपनी प्रतिष्ठा और करियर को दांव पर लगा दिया है तो मुझे कुछ पता होना चाहिए, मैं यकीनन आज सबसे सफल अभिनेत्री हूं, आपको क्यों लगता है कि मुझे अपने कार्यों के कानूनी परिणामों के बारे में नहीं पता हैं?’ इससे पहले कंगना ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मैं रणवीर सिंह, रणबीर कपूर, अयान मुखर्जी, विकी कौशिक से ड्रग टेस्ट के लिए अपने रक्त के नमूने देने का अनुरोध करती हूं, ऐसी अफवाहें हैं कि वे कोकीन का नशा करते हैं, मैं चाहती हूं कि वे इन अफवाहों पर विराम लगाए। यदि वे ब्लड सैम्पल के नमूने @PMOIndia प्रस्तुत करते हैं तो लाखों लोगों को प्रेरणा दे सकते हैं।’

दिवंगत बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत का केस पेचीदा होता जा रहा है। हर रोज इस केस में नए खुलासे हो रहे हैं। हाल ही में सुशांत के पारिवारिक वकील ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई चीजों से पर्दा उठाया है। वहीं, रिया द्वारा दिवंगत एक्टर के परिवार पर लगाए आरोपों पर भी बयान दिया है। विकास सिंह कहते हैं कि सुशांत की बहन प्रियंका सिंह ने कोई भी दवाई नहीं बदली और न ही उन्होंने सुशांत को कोई घबराहट की दवाई दी। परिवार को नीचा दिखाने की रिया कोशिश कर रही हैं। एक नई रिपोर्ट से पता चला है कि सुशांत की बहन प्रियंका सिंह ने सीबीआई को बयान दिया है कि वह डॉ केसरी चावड़ा और सुशांत की मानसिक स्थिति के बारे में पहले से ही जानती थीं।

वहीं, इंडिया टुडे के मुताबिक सुशांत की बहन प्रियंका सिंह और वकील विकास सिंह के बयान में फर्क देखा गया है। दोनों ने ही सुशांत की मानसिक स्थिति को लेकर अलग-अलग बयान दिए हैं। विकास सिंह का कहना है कि सुशांत सिंह राजपूत को साल 2019 तक किसी भी तरह की मानसिक परेशानी नहीं थी। जब वह रिया चक्रवर्ती से मिले इसके बाद से ही उन्हें दिक्कत होनी शुरू हुई। रिपोर्ट्स से यह भी सामने आया है कि सुशांत ने नींद की समस्या के लिए साल 2013 में डॉ हरीश शेट्टी को कंसल्ट किया था।

प्रियंका सिंह ने जो सीबीआई को स्टेटमेंट दिया है, उसकी बात करें तो वह पहले से ही भाई की मानसिक स्थिति के बारे में जानती थीं। उन्होंने कहा कि नवंबर 2019 में मेरे भाई सुशांत थोड़ा अजीब महसूस कर रहे थे। मानसिक स्थिति के लिए वह हिंदुजा हॉस्पिटल के डॉ केसरी चावड़ा से कंसल्ट कर रहे थे।

आपको बता दें कि हालिया प्रेस कॉन्फ्रेंस में वकील विकास सिंह ने कहा, ‘सुशांत सिंह की तीन बहनें आज मुझसे मिलीं और दुख जताया कि मीडिया में एक कैंपेन चलाया जा रहा है और परिवार को बदनाम किया जा रहा है। इसके पीछे की वजह रिया को फायदा पहुंचाना है।’

विकास सिंह ने कहा, ‘एफआईआर में लिखा हुआ है कि मानसिक स्थिति खराब होने के बाद सुशांत सिंह राजपूत काफी घबराए हुए रहते थे। आठ जून को जब सुशांत काफी घबराए हुए थे, तो उन्होंने अपनी बहन को फोन किया। बहन ने सुशांत को वही दवा खाने के लिए कहा जो वह खुद खाती थीं।’ विकास सिंह ने कहा कि यह सभी बातें एफआईआर में पहले से हैं, लेकिन इसके बावजूद कुछ चैनल कैंपेन चला रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *